Proning kya hai or Proning kese kare ? 2021

Proning kya hai ?

भारत में कोरोना की दूसरी लहर से  देश में हालात अब गंभीर हो गए है , कोरोना मामले और oxygen के अचानक मांग में वृधि से समस्या बढ़ गई  है/  Oxygen की कमी को दूर करने के लिए Proning जीवनरक्षक के रूप में उपयोगी है , जिससे कई जाने बचाई जा सकती है /

Proning kya hai ? Proning kese kare?

proning kya hai  स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, जब रोगी को सांस लेने में Problem हो और Oxygen level का स्तर 94 के नीचे हो, तो Proning के जरिये Oxygen level  बढ़ाया जा सकता है/  जो मरीज  होम आइसोलेशन में है उनके लिए proning  काफी मददगार ह/

अपने जान लिया की  proning kya hai अब जानते है , इसे कैसे करे /

Proning kese kare आइये Proning के बारे में जानते है /

Proning के लिए रोगी को पेट के  बल लेटना है तथा मुँह या गर्दन के नीचे एक सिरहाना रखना है, इसी तरह छाती और पेट के नीचे  दो सिरहाने और दो सिरहाने  टांगो के नीचे रखने है /  हर 30 मिनट से दो घंटे के बीच  मरीज के लेटने के पोजिशन को बदलना जरूरी है./  इसे  करते समय रोगी को सांस लेते रहना है, और इसे 30 minute से अधिक Proning को नहीं करना है /

इस प्रक्रिया में फेफड़ों में खून का संचार अच्छा होने लगता है और फेफड़ों में मौजूद Fluid इधर-उधर हो जाता है, जिससे lungs  में ऑक्सीजन आसानी से पहुंचती रहती है. और ऑक्सीजन का लेवल भी नहीं गिरता है.

चेतावनी : Proning kya hai यह तो आपने जान लिया , अब जानते है इसे किस समय करे  भोजन करने के 1 hour तक Proning नहीं करना है , इसके अलावा गर्भावस्था  होने पर भी Proning नहीं करना है ,  ऐसी स्थिति में Proning से आपको नुकसान हो सकता है।

Leave a Comment