Black Fungus new Symptoms in hindi (Wikipedia 2021)

Black Fungus new Symptoms in hindi

Black Fungus new Symptoms in hindi

Black Fungus new Symptoms in hindi Wikipedia ब्लैक फंगस को Mucormycosis भी कहा जाता है। यह एक प्रकार का फंगस है, जो हमारे आसपास के environment में पाया जाता है, यह ब्लैक फंगस आमतौर पर लोगों को इससे कोई खतरा नहीं है, लेकिन यह कोरोना मरीजों में कम इम्युनिटी के कारण यह खतरनाक साबित हो रहा है। यह फंगस दो प्रकार का होता है, पहला ब्लैक, और दूसरा वाइट। आज के समय में ब्लैक और वाइट फंगस  ज्यादातर कोरोना मरीजों में पाया जा रहा है।

New Black Fungus Disease infection in hindi

आखिर ब्लैक फंगस है क्या ? कैसे हमारे अंदर आ जाता है और इसका इलाज क्या है ?, आसान शब्दों में आपको समझाऊं तो ,कभी फल बाहर कटा हुआ रह जाए, तो थोड़े दिन बाद देखेंगे उसमें एक वाइट कलर का फंगस लग जाता है और फिर ब्लैक भी हो जाता है। इसी को फंगस कहते हैं, और वही चीज अगर हमारे अंदर पनप ने लग जाए और वो ग्रो कर जाए , इसी को ब्लैक फंगस इन्फेक्शन कहते हैं। इस तरह के 500 से हजार केसेस इंडिया में आ चुकें है, और इसे बड़ा खतरनाक माना जाता है। इसलिए कोरोना मरीजों को थोड़ी सावधानी रखने की जरूरत है। Mucormycosis Wikipedia

अगर किसी मरीज में ब्लैक फंगस डिजीज के लक्षण पाया जाता है, तो उसे तुरंत किसी अच्छे Experienced Ent-Specialist के पास जाना चाहिए। यह फंगस बाहर से हमारे शरीर में आता है, इसलिए आपको ज्यादा सावधानी रखने की जरूरत है, और अपने आसपास साफ़ सफाई का ध्यान रखना चाहिए।

Black Fungus new Symptoms in hindi (Wikipedia 2021)

Black Fungus Covid 19 in hindi

ब्लैक फंगस इन्फेक्शन उन लोगों को हो रहा है ,जो डायबिटीज के पेशंट्स है, और जो डायबिटिक हैं, या जिनका शुगर कंट्रोल में नहीं है। जिनको मरीजों को लॉन्ग ड्यूरेशन सिस्टम एक स्टेरॉयड दिया गया हो , जिनको इम्यून मॉड्यूलेशन ड्रग्स मिले हों, जो लॉन्ग टर्म मेकैनिकल वेंटिलेशन पर रहे हों या ऑक्सीजन सपोर्ट पी रहे हों। ब्लैक फंगस डिजीज इन्फेक्शन ज्यादातर covid recovered पेशंट्स को होता है। यानि covid से रिकवरी हो जाती है और उसके बाद ये इन्फेक्शन उनको हो जाता है।

किन राज्यों में ब्लैक फंगस फ़ैल रहा है ?

  1. Delhi
  2. Maharastra
  3. Rajasthan
  4. Madhya pradesh
  5. Karnatak
  6. Hariyana
  7. Telangana
  8. Andhra Pradesh
  9. Kerala
  10. Bihar
  11. Punjab
  12. Uttar Pradesh
  13. Gujarat
  14. Chattishgarh
  15. Jharkhand

इंडिया के कुछ राज्यों में इसे महामारी घोसित कर दिया गया है, वो राज्य हैं:

  1. गुजरात
  2. राजस्थान
  3. पंजाब
  4. तेलंगाना
  5. तमिल नाडु

फ़िलहाल ब्लैक फंगस इन्फेक्शन के केसेस काफी कम पाए जा रहे हैं। क्युकी डॉक्टर्स द्वारा बताया जा रहा है की इसके होने के chances काफी कम हैं। इसलिए लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है, लेकिन सावधानी रखने की जरूरत है।

Black Fungus new Symptoms in hindi

  • Black fungus new Symptoms in hindi 
  • आपके गालों में दर्द हो सकता है।
  • नाक बंद हो सकता है।
  • नाक से काला या ब्राउन डिस्चार्ज निकलना।
  • Restricted eyes movement – आंखें घूमने में तकलीफ।
  • PTOSIS of Eyelid -पलकों का झुक जाना।
  • proptosis of eye- आंखे बड़ी हो जाना।
  • दाँतों का रंग उड़ जाना।
  • Skin Discolouration – स्किन पर काले धब्बे पढ़ सकते हैं।
  • नाक से खून आ सकता है
  • सिर में दर्द होगा।
  • आंखों में असर पड़ेगा।
  •  आँखों में सूजन हो सकता है।
  • चेहरे में सूजन हो सकता है।
  • In Black fungus Symptoms, you may feel Blurred vision or Double vision.
  • दांत में दर्द हो सकता है या दांत loose हो सकते हैं।
  • कुछ केसेस में ब्लैक फंगस इन्फेक्शन की वजह से आँखों की रोशनी पूरी तरह से चली जाती है।

जैसे ही ये symptoms दिखे तुरंत डॉक्टर्स के पास जाएँ। क्यूंकि यह बीमारी आपकी आंखे और दिमाग तक फ़ैल सकती है। जिसके कारण आंखे पूरी तरह से खराब हो सकती है, जिसके बाद doctors को surgery के द्वारा आंखें निकालनी पड़ सकती हैं।

कुछ केसेस में, मरीज की दोनों आँखों तक इन्फेक्शन पहुंच जाता है, जिसके मरीज की दोनों आंखे सर्जरी के द्वारा निकालनी पड़ती है, क्युकिन उनमे ब्लैक फंगस इन्फेक्शन ज्यादा मात्रा में हो जाता है। It is mainly seen in Black Fungal Infection post covid patients.

Dr Akshay Nair, a Mumbai-based eye surgeon shared his story on BBC NEWS about the Black Fungus :

Black Fungus Infection Treatment in hindi

इस बीमारी के ट्रीटमेंट में डॉक्टर्स एंटी-फंगल का इंजेक्शन लगते हैं जैसे की – AMPHOTERICIN B, 2 से 4 हफ्ते तक यह इंजेक्शन ब्लैक फंगस के मरीजों को लगाया जाता है। Amphotericin-B is an anti-fungal drug that is used in the treatment of a rare infection called mucormycosis or “black fungus”. यह इंजेक्शन थोड़ा महंगा होता है। इस इंजेक्शन का cost 3500 से 6000 rupees तक हो सकता है,  इलाज महंगा है पर मैं आपको बता दूं death होने के चांस सिर्फ 10 परसेंट लोगों को होता है। इसलिए डरने की जरूरत नहीं है।

इस बीमारी की सर्जिकल ट्रीटमेंट भी है जिसमे ब्लैक फंगस से इन्फेक्टेड हिस्से को सर्जरी के द्वारा निकाला जाता है, जिसके कारण यह फंगस शरीर के बाकी हिस्सों तक नहीं पहुंच पाता।

इस बीमारी का पता लगाने के लिए डॉक्टर कुछ टेस्ट कराते हैं जैसे- CBC Test, किडनी की जांच, CT-SCAN कराते हैं, ताकि पता चल सके  बीमारी कहां कहां तक फैली हुई है। Contrast Enhanced MRI करा सकते हैं देखने के लिए कि ये फंगस आंख और दिमाग में कहां तक फैला हुआ है। आपके ब्लड शुगर की जांच होती है और डॉक्टर ज्यादातर नेजल इंडोस्कोपी करके अंदर देखते हैं कि आपको ये फंगल इन्फेक्शन हो रही है या नहीं।

Black Fungus Disease Prevention in hindi

ब्लैक फंगस डिजीज से बचने के लिए, अपने शुगर लेवल को कण्ट्रोल में रखें। डायबिटीज के मरीजों को ब्लैक फंगल इन्फेक्शन होने के चान्सेस ज्यादा होते हैं। क्युकी डायबिटीज के मरीजों की इम्युनिटी कम होती है, जिसके कारण उन्हें फंगल इन्फेक्शन होने का दर बना रहता है , इसीलिए डायबिटीज के मरीजों को शुगर की मेडिसिन्स टाइम पर लेते रहना चाहिए।

बिना मेडिकल prescription के high dose of steroid ना लें ,इससे आपका sugar’level बढ़ता है , जिसके कारण आपकी इम्युनिटी कम होने लगती है। कम इम्युनिटी होने के कारण ब्लैक फंगल इन्फेक्शन होने के चान्सेस काफी बढ़ जाते हैं। इसीलिए अपना शुगर लेवल मेन्टेन करके रखें। जो लोग कोरोना से रिकवर हो चुके हैं, वह भी अपना शुगर लेवल का checkup समय पर कराते रहें।

Also Read : White fungus kya hai ? white fungus symptoms in hindi

Black Fungus and White Fungus both in hindi

देश में कोरोना के नए मामलों में कमी तो जरूर आई है पर लगातार बढ़ते Black fungus के मामलों ने चिंता बढ़ा दी है। Black fungus के बाद अब white fungus की दस्तक ने नई चुनौतियां खड़ी कर दी हैं। पटना में white fungus के मरीज मिलने से अफरातफरी मच गई है। केन्द्र सरकार ने सभी राज्यों को खत लिखकर Black fungus के लिए अलर्ट किया है। साथ ही सभी राज्य सरकारों से इसे महामारी ACT के तहत Notable Disease घोषित करने को कहा है। यानी राज्यों को ब्लैक फंगस के केस मौतों इलाज और दवाओं का हिसाब रखना होगा।

राजस्थान गुजरात हरियाणा तेलंगाना और तमिलनाडु इस ब्लैक फंगस को पहले ही महामारी घोषित कर चुके हैं। दिल्ली में भी इसके मरीजों के इलाज के लिए अलग से सेंटर्स बनाए जा रहे हैं। इसके इलाज में ( AMPHOTERICIN-B ) इंजेक्शन को इलाज के तौर पर इस्तेमाल किया जा रहा है जोकि एक Anti-Fungal मेडिसिन है। ब्लैक फंगस यानि Mucormycosis और White fungus दोनों ही खतरनाक बीमारी है। 

बिहार के अंदर कुछ मामले पाए गए हैं ,जिनमे कि इन्होंने फेफड़ों को भी संक्रमण किया है। इसके अलावा White fungus मुख्यतौर पर हमारी स्किन को,  मुंह के अंदरूनी हिस्से को,  पेट को,  किडनी और आंतों को इफेक्ट करता है। White fungus के लक्षण HRCT TEST में  कोरोना जैसी ही दिखाई देते हैं। 

Black fungus के लक्षणों की हम बात करे तो इसमें नाक में दर्द होना , नाक बंद होना,  नाक में सूजन होना , जबड़े में दर्द होना , आखों के सामने धुंधला होना , दर्द होना , बुखार होना , सीने में दर्द होना ,सरदर्द होना ,खांसी होना ये सब black fungus के लक्षण हैं।

White fungus के लक्षण की बात करें तो , इसके cases फिलहाल में बहुत कम आ रहे हैं,  जो पेशेंट्स हैं उनमे ज्यादातर कोरोना के लक्षण पाए गए हैं।

कुछ लोगों को बहुत ही सावधानी बरतने की जरूरत है। जो कोविद से रिकवर हुए हैं और जिनको अनकंट्रोल डायबिटीज है या जो इम्यूनो कंप्रोमाइज ,जिनका इम्यून सिस्टम पहले से ही ठीक तरीके से फंक्शन नहीं कर रहा हो या जो लंबे समय से स्टेरॉयड का भी सेवन कर रहे हों और जिनको ऑक्सीजन थैरेपी की जरूरत पड़ रही हो। कोरोना मरीज को हॉस्पिटल से डिस्चार्ज होने के बाद घर पर भी इनको विशेष सावधानियां बरतने की जरूरत है।

Black Fungus new Symptoms in hindi

Black fungus का human-to-human  ट्रांसमिशन नहीं देखा गया।यह किसी इंसान से इंसान को नहीं फैलता है। लेकिन Fungus हर तरह के मौसम में और हवा में भी मौजूद होती है, मिट्टी में भी होती है , हर सीजन के अंदर हर तरह के वातावरण में होते हैं। इसलिए अपने आसपास साफ़ सफाई रखना बहुत जरूरी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *